Friday, 4 April 2014

अपने-अपने जुगत में...


एक नदी के किनारे का दृश्य है ये। देखिए ना..ये दोनों कैसे अपने जुगाड़ में लगे हैं एक नदी के किनारे का दृश्य है ये। देखिए ना..ये दोनों कैसे अपने जुगाड़ में लगे हैं. बच्ची इन कचरों के ढ़ेर में सिक्का खोज रही है..तो कुत्ता खाने पीने का सामान...दोनों की जरूरत पेट भरना है...आजकल आदमी कुत्ता हो गया है या कुत्ता आदमी...मुश्किल हो रहा समझना.
Post a Comment