Sunday, 2 April 2017

जी आंटी....



अच्छा बेटा जी..तो आप पतंजलि के शैंपू से हेयर वॉश करती हो
-जी आंटी
लेकिन इसपे तो मिल्क प्रोटीन लिखा है..मिल्क वही न जिसका मतलब दूध होता है
-जी
तो ये बताओ बेटा..इस शैंपू में अगर दूध मिला है तो ये मेरे जैसे लंबे बालों को तो लिसलिसा कर देगा न
-नहीं आंटी, ये बालों को लिसलिसा नहीं करेगा।
अच्छा बताओ तो हम भी ले लें इस शैंपू को
-जी अगर आपका मन हो तो ले लीजिए
वो क्या है न कि तुम्हारे अंकल को मेरे लंबे, घुघराले बाल ज्यादा पसंद हैं..कहीं मेरे बाल टूटने लगे तो वो मुझसे खिसिया जाएंगे
-अगर आपके बाल नहीं टूट रहे तो शैंपू बदलने की जरूरत ही नहीं है..जो लगाती हैं वही लगाइये फिर तो
नहीं बेटा..एक ही शैंपू लगाते-लगाते ऊब गई हूं...बड़ा नाम सुना है पतंजलि का..सोच रही हूं खरीद ही लूं।
-जी आंटी..जरूर खरीद लीजिए फिर तो।
Post a Comment